101+ भाईगिरी स्टेटस | Best Bhaigiri Status in Hindi | भाईगिरी शायरी

भाईगिरी स्टेटस | Bhaigiri Status in Hindi | भाईगिरी शायरी :

नमस्कार दोस्तों, यहां हम आपके लिऐ Hindi Web Quotes वेबसाईट पर हिंदी में Bhaigiri Attitude Status, Bhaigiri Shayari in Hindi, दादागिरी शाायरी, Bhaigiri Status Hindi, Khatarnak Shayari, Faadu Bhaigiri Attitude Status, भाईगिरी टेटस डाउनलोड, Gangster Shayari in Hindi, रॉयल दबंग स्टेटस, Royal Nawabi Attitude Status का बड़ा संग्रह लेकर आए हैं। आप अपनी पसंद के अनुसार सभी प्रकार की शायरी चुन सकते है और जहां पर आप अपने दोस्तों को चांहे जितना शेयर कर सकते है।

 

भाईगिरी स्टेटस | Bhaigiri Status in Hindi :

खून अभी वो ही है
ना ही शोक बदले ना ही जूनून,
सून लो फिर से रियासते गयी है रूतबा नही,
रौब ओर खोफ आज भी वही है।


मेरे स्टेटस नशें की तरह होते है,
यदि एक बार गलती से भी आदत पड़ गई तो,
बिना पढ़े रह पाना मुश्किल हो जाता है।


वहा पर न तो दवा काम आती है न तो दुआ,
जहाँ रौब भी मेरा होता है और राज भी मेरा होता है।


Read More :

खतरनाक बदमाशी स्टेटस | Best Badmashi Status in Hindi | बदमाशी शायरी


Bhaigiri Attitude Status

मंज़िल नहीं मुझे तो राह से मिलना है,
दुनिया के साथ किसे जीना है,
मुझे तो भाईगिरी में जी कर शान से मरना है।


सुन बेटा तहे दिल से करता हूँ
मै मोहब्बत हो या नफ़रत.
तभी तो यारो का यार हूँ और दुश्मनों का दुश्मन।


कुछ सही तो कुछ खराब कहते है
लोग हमे बिगड़ा हुआ नवाब कहते है।


हुकुमत वो ही करता है
जिसका दिलों पर राज होता है
वरना यूँ तो गली के मुर्गे के सर पे भी ताज होता है।


तू मेरे पाँव के जूते जैसा ही है
बस फर्क इतना ही हैं कि
मेरे पैरों को #BRANDED जूतें ही पहनने का शोक है।


शोर गुल मचाने से नाम नहीं बनता,
काम ऐसा करो की ख़ामोशी भी अख़बारों में छप जाए।


हमको जंजीरो में कैद करने का सपना मत देख
क्युंकि हम वो आदमखोर शेर हैं
जिसका भी शिकार करतें हैं
उसका जिस्म तो क्या रूह भी दम तोड़ देती हैं।


नाम हमारा इसलिए ऊचा है महफ़िल में,
क्युकि हम बदला लेने की नहीं, बदलाव लाने की सोचते है।


न पुलिस में रिपोर्ट हुई और न अदालत में कोर्ट हुई
भाई की दादागिरी ही थी जो वारदात ऑन द स्पॉट हुई।


Faadu Bhaigiri Attitude Status

हम क्यो डरे किसी से
हम तो पैदा ही शेरो की बस्ती मे हुए है
डरना है तो वो लोग डरे ज़िन्हे
चूहो ने पैदा करके शेर का नाम दे रखा है।


हम वो तालाब है जहाँ शेर भी आये तो,
उसे भी सर झुका के पानी पीना पड़ता है।


आसमान में तारे चमक रहे हैं और बादल बरस रहे हैं,
तेरी क्या औकात मेरे तो दुश्मन भी पैर पकड़ने को तरस रहे है।


मंज़िल नहीं मुझे तो राह से मिलना है
दुनिया के साथ किसे जीना है
मुझे तो भाईगिरी में जी कर शान से मरना है।


ऐसे बुने हैं मैंने अपनी तकदीर के धागे,
इस दुनिया को भी झुकना पड़ा है मेरे आगे।


रेगिस्तान भी हरे हो जाते हैं,
जब अपने साथ अपने भाई खड़े हो जाते हैं।


बेटा मेरे दादागीरी समुन्दर जैसी है
इसे खामोश रहने दो जरा मचल गया तो पूरा शहर ले डूबूँगा।


दादागिरी है ऐसे रोशन जैसे चमकती लाईट है,
जिसने भी लिया हमसे पंगा उसकी समझो हवा टाईट है।


दहशत बनाओ तो हमारे जैसी
वरना ख़ाली डराना तो कुत्ते भी जानते है।


जिंदगी अपने हिसाब से जीनी चाहिए
औरों के कहने पर तो शेर भी सर्कस में नाचते है।


तू नया नया‬ है ‪‎बेटे‬
मैने ‎खेल‬ पुराने ‎खेले‬ है
जिन ‪लोगो‬ के दम पर तू ‪उछलता ‬है
वो ‪मेरे‬ पुराने ‎चेले‬ है।


झुक के बात करने की आदत बना ले
काफी फायदे में रहोगे, क्यूंकि
आज भी आँखे मिला कर बात करने की तेरी औकात नहीं है।


कौन कहता है
मैं तेरी दो कौड़ी की धमकियों से डरता हूँ,
बहार निकल कर देख आज भी सुनसान गलियों से गुजरता हूँ।


खून में उबाल वो आज भी हमारा खानदानी है
दुनिया हमारे शौक की नहीं हमारे तेवर की दिवानी है।


दादागिरी देखना चाहता है तो मिलना कभी मैदान में,
तलवार भी तेरी होगी और टुकड़े भी तेरे ही होंगे।


झुक के बात करने की आदत बना ले
काफी फायदे में रहोगे क्यूंकि,
आज भी आँखे मिला कर बात करने की तेरी औकात नहीं है।


हार की परवाह करता,
तो मैं जीतना छोड़ देता,
लेकिन जीत मेरी जिद है,
और जिद का मैं बादशाह हूँ।


मुझे क्या डराएगा मौत का मंजर,
हमने तो जन्म ही कातिलों की बस्ती में लिया है।


ज़िन्दगी को इतनी भी सस्ती मत समझो
कि 2 कौड़ी के लोग आकर
तुम्हारी ज़िन्दगी से खेल जाए।


दुनिया खामोशी भी सुनती हैं,
लेकिन पहले दुशमनो को अपनी भाईगिरी दिखानी पड़ती हैं।


घमंडी नहीं हूँ पर
आपका व्यवहार बताएगा
आपसे कितनी बात करनी है।


भाईगिरी का ज़माना हैं
सीधे लोगो को दुनिया जीने नहीं देती।


आदमी तभी बड़ा बनता है
जब बड़े लोग उससे मिलने का इन्तजार करें।


हम जब दोस्ती करते हैं तो अफ़साने लिखे जाते हैं
और जब दुश्मनी करते हैं तो तारीखें लिखी जाती हैं।


मेरा वजूद नहीं किसी तलवार और तख्तो ताज का मोहताज
मै अपने हुनर और हँसी से लोगो के दिलो में राज करता हूँ।


जब हम दोनो भाई एक साथ सड़क पर निकलते है
तो लोग Confused हो जाते है कि दोस्ती किस से करे,
एक दादागिरी करता है तो दूसरा भाईगिरी


बाप के सामने अय्याशी
और हमारे सामने बदमाशी
बेटा, भूल कर भी मत करियो।


हम वो तालाब है जहाँ शेर भी आये तो
उसे भी सर झुका के पानी पीना पड़ता हैं।


हम कुछ दिन खामोश क्या हुए
तुम्हे लगा राज तुम्हारा होगा
थोड़ा इंतज़ार करो मेरी जान आतंक दुबारा होगा।


दुसरो पे जलने वाले हम नहीं
और हम पे जलने वाले लोग काम नहीं
जैसे शेर की आहट जंगल हिला देती है
वैसे ही हमारी एंट्री लोगो को उनकी औकात दिखा देती है।


जीत हासिल करनी हो तो काबिलियत बढ़ाओ
किस्मत की रोटी तो कुत्तों को भी मिला करती है।


होश तो उनके भी उड़ाएंगे जनाब
जो अपने आप को बहुत बड़ी तोप समझते हैं।


तूफान ज्यादा हो तो कश्तियां डूब जाती हैं,
और घमंड ज्यादा हो तो हस्तियां डूब जाती है।


अरे जब हद पार होगी
तब वहाँ से भी उठा लाऊंगा जहाँ तुम्हारा राज चलता है।


हम कुछ दिन खामोश क्या हुए
तुम्हे लगा राज तुम्हारा होगा
थोड़ा इंतज़ार करो मेरी जान आतंक दुबारा होगा।


दुश्मन तो बहुत है
लेकिन वो कहते हैं ना
शेर का शिकार कुत्तों से नहीं होता।


बेटा ना लिया कर मेरे से पंगा
नहीं तो करना पड़ेगा शहर मे दंगा
जब कर दुंगा दंगा,तो लोग करेंगे तेरे को गंजा।


जिंदगी अपने हिसाब से जीनी चाहिए
औरों के कहने पर तो शेर भी सर्कस में नाचते हैं।


ज़िन्दगी बहुत छोटी है
इसे रूठे सनम को मनाने में बर्बाद ना करे
दूसरी पटा ले समझे।


Follow us On : Facebook | Instagram | Twitter | Telegram

Share via
Copy link
Powered by Social Snap