+101 Best Gam Bhari Shayari in Hindi | गम भरी शायरी हिंदी में

गम भरी शायरी हिंदी (Gam Bhari Shayari in Hindi) :

गम किसको छूटा है, जैसा कि कभी ना कभी हम किसी भी कारण कोई ना कोई वजह से अपने नजदीकी दिल से सबसे ज्यादा करीब लोगो से दुःखी हो जाते है और अपना गम में डूब जाते हैं। इन दिल के बोझ से छुटकारा पाने का सबसे अच्छा तरीका है दुखद कविता, गम शायरी, और गम एसएमएस (Sad Sms) को पढ़कर अपना मन हलका कर सकते हैं।

इसलिए सामाजिक नेटवर्क पर अपनी मन की व्यथा को व्यक्त करने के लिए गम शायरी 2021 (Gam Shayari in Hindi) से अच्छा कोई विकल्प नहीं है। यहाँ हम इस साईट पर हिंदी में गम भरी शायरी (Gam Bhari Shayari in Hindi, गम शायरी दो लाइन, गम भरी शायरी 2021, गम भरी शायरी शब्दों में, गम वाली शायरी, रात की गम भरी शायरी, प्यार वाली गम भरी शायरी) का एक बड़ा संग्रह ले आ गए हैं आप अपनी मनोदशा के अनुसार सभी प्रकार की शायरी चुन सकते हैं और जहाँ पर आप आपने दोस्तो चाहें जितना शेयर कर सकते हैं।

 

Gam Bhari Shayari in Hindi | गम भरी शायरी हिंदी :

महफ़िल में हँसना हमारा मिजाज बन गया
तन्हाई में रोना एक राज बन गया,
दिल के दर्द को चेहरे से जाहिर न होने दिया
बस यही जिंदगी जीने का अंदाज बन गया।


तेरी आरज़ू मेरा ख्वाब है ऐ सनम
जिसका रास्ता बहुत खराब है,
मेरे ज़ख्म का अंदाज़ा तू न लगा,
दिल का हर पन्ना दर्द की किताब है।


खोया इतना कुछ कि फिर पाना न आया,
प्यार कर तो लिया पर जताना न आया,
आ गए तुम इस दिल में पहली ही नज़र में
बस हमें आपके दिल में समाना ना आया।


Read More :

+100 Best Sad Shayari in Hindi | सैड शायरी हिंदी


Gam Shayari 2 Line

ना ख़ुशी की तलाश है ना गम-ए-निजात की आरज़ू,
मैं खुद से नाराज़ हूँ तेरी बेरुखी के बाद।


इस शहर में हम जैसा सौदागर कहाँ मिलेगा यारो,
हम गम भी खरीद लेते हैं किसी की खुशी के लिए।


शिकायत क्या करूँ दोनों तरफ ग़म का फसाना है,
मेरे आगे मोहब्बत है तेरे आगे ज़माना है।


2 Line Dard Bhari Shayari

अपनी तबाहियों का मुझे गम तो है मगर,
तुम ने किसी के साथ मोहब्बत निभा तो दी।


है ये मेरी बदनसीबी तेरा क्या कुसूर इसमें,
तेरे ग़म ने मार डाला मुझे ज़िन्दग़ी से पहले।


देखकर तुमको अक्सर हमें ये एहसास होता है,
कभी कभी ग़म देने वाला भी कितना ख़ास होता है।


Gam Shayari Status

ग़म देकर तुमने खता की,
ऐ सनम तुम ये न समझना,
तेरा दिया हुआ ग़म भी,
हमें दवा ही लगता है।


वफ़ा का दरिया कभी रुकता नही,
मोहब्बत में प्रेमी कभी झुकता नही,
किसी की खुशियों के खातिर चुप है,
पर तू ये न समझना की मुझे दुःखता नही।


मोहब्बत के भी कुछ अंदाज़ होते हैं,
जगती आँखों के भी कुछ ख्वाब होते हैं,
जरुरी नहीं के ग़म में आँसू ही निकले,
मुस्कुराती आँखों में भी शैलाब होते हैं।


रात की गम भरी शायरी

कैसे बयान करें आलम दिल की बेबसी का,
वो क्या समझे दर्द आंखों की इस नमी का,
उनके चाहने वाले इतने हो गए हैं अब कि,
उन्हे अब एहसास ही नहीं हमारी कमी का।


दुनिया में किसी से कभी प्यार मत करना,
अपने अनमोल आँसू इस तरह बेकार मत करना,
कांटे तो फिर भी दामन थाम लेते हैं,
फूलों पर कभी इस तरह तुम ऐतबार मत करना।


देख कर उसको अक्सर हमें एहसास होता है,
कभी कभी ग़म देने वाला भी बहुत खास होता है,
ये और बात है वो हर पल नहीं होता पास हमारे,
मगर उसका दिया ग़म अक्सर हमारे पास होता है।


मोहब्बत की गम भरी शायरी

वो रात दर्द और सितम की रात होगी,
जिस रात रुखसत उनकी बारात होगी,
उठ जाता हूँ मैं ये सोचकर नींद से अक्सर,
कि एक गैर की बाहों में मेरी सारी कायनात होगी।


कभी कभी मोहब्बत में वादे टूट जाते हैं,
इश्क़ के कच्चे धागे टूट जाते हैं,
झूठ बोलता होगा कभी चाँद भी,
इसलिए तो रुठकर तारे टूट जाते हैं।


तुझसे बिछड़ने के बाद कभी खुश ना हो पाया मै,
तेरी यादों को दिल से ना मिटा पाया मै,
करना तो चाहता था बहुत कुछ अपने लिए,
फ़ुरसत ना निकाल पाया अपने लिए मै।


गम भरी शायरी 2021

मुस्कुराते पलको पे सनम चले आते हैं,
आप क्या जानो कहाँ से हमारे गम आते हैं,
आज भी उस मोड़ पर खड़े हैं,
जहाँ किसी ने कहा था कि ठहरो हम अभी आते है।


ग़मों के साथ जीना सीख लिया,
बहते आसुओं को पीना सीख लिया,
तेरे आने की उम्मीद भी छोड़ दी,
अपने फटे दिल को सीना सीख लिया।


हम तो ख्वाबो की दुनिया में बस खोते गये,
होश तो था फिर भी मदहोश होते गये,
उस अजनबी चेहरे में क्या जादू था,
न जाने क्यों हम उसके होते गये।


गम भरी शायरी स्टेटस

ऐ बेवफा थाम ले मुझको मजबूर हूँ कितना,
मुझको सजा न दे मैं बेकसूर हूँ कितना,
तेरी बेवफ़ाई ने कर दिया है मुझे पागल,
और लोग कहतें हैं मैं मगरूर हूँ कितना।


तेरे दिए गम को पलकों पे सवार लिया,
यादों को तेरी दिल में उतार लिया।
हर तरफ तेरा चेहरा दिखाई देता ,
क्यूंकि हमने था तुमसे बहुत प्यार किया।


एक कहानी सी दिल पर लिखी रह गयी,
वो नजर जो उसे देखती रह गयी,
वो बाजार में आकर बिक भी गए,
मेरी कीमत लगी की लगी रह गयी।


गम वाली शायरी

मंज़िलों के ग़म में रोने से मंज़िलें नहीं मिलती,
हौंसले भी टूट जाते हैं अक्सर उदास रहने से।


कुछ ग़मों का होना भी जरूरी है ज़िन्दगी में,
ज़िंदा होने का अहसास बना रहता है।


वो साथ थी तो मानो जन्नत थी ज़िन्दगी,
अब तो हर सांस जिंदा रहने की वजह पूछती है।


जिंदगी गम शायरी

तेरी दुनिया में जीने से तो बेहतर हैं कि मर जायें,
वही आँसू, वही आहें, वही ग़म है जिधर जायें,
कोई तो ऐसा घर होता जहाँ से प्यार मिल जाता,
वही बेगाने चेहरे हैं कहाँ जायें किधर जायें।


वो तेरा ग़म था कि तासीर मेरे लहजे की,
कि जिसको हाल सुनाते थे रुला देते थे।


दोनों जहाँ तेरी मोहब्बत में हार के,
वो जा रहा है कोई शब्-ए-गम गुजर के।


दिल का गम शायरी

चाहा था मुक़म्मल हो मेरे गम की कहानी,
मैं लिख न सका कुछ भी तेरे नाम से आगे।


प्यार के बदले नफरत मिलेगा मुझे मालूम न था,
ख़ुशी देने के बदले गम मिलेगा मुझे मालूम न था,
मैंने जब उसे दिल दिया उस पर विश्वास करके,
तो मेरे दिल का खून होगा मुझे मालूम न था।


गम यह नहीं के क़सम अपनी भुलाई तुमने,
ग़म तो ये है के रकीबों से निभाई तुमने,
कोई रंजिश थी अगर तुम को तो मुझसे कहते,
बात आपस की थी क्यों सबको बतायी तुमने।


जुदाई का गम शायरी

यकीन न आये तो एक बार पूछ कर देखो,
जो हँस रहा है वो ग़मों से चूर निकलेगा।


रास्ते खुद ही तबाही के निकाले हमने,
कर दिया दिल किसी पत्थर के हवाले हमने,
हमें मालूम है क्या चीज़ है मोहब्बत यारो,
घर अपना जला कर किये हैं उजाले हमने।


मेरी हर शायरी मेरे दर्द को करेगी बंया ए गम
तुम्हारी आँख ना भर जाएँ, कहीं पढ़ते पढ़ते।


जब टुटा दिल मेरा तो मुझे ही पता था,
की शरीर में जान मेरे कितना था,
हम तो हँसते हुए कुर्बान होते चले गए,
तुमने तो जाना ही नहीं कि दिल में दर्द कितना था।


क्या खूब ही होता अगर दुख रेत के होते,
मुठ्ठी से गिरा देते पैरो से उड़ा देते,
आपके बिन टूटकर बिखर जायेंगे,
मिल जायेंगे आप तो गुलशन की तरह खिल जायेंगे,
अगर न मिले आप तो जीते जी मर जायेंगे,
पा लिया जो आपको तो मर कर भी जी जायेंगे।


Follow us On : Facebook | Instagram | Twitter | Telegram

Share via
Copy link
Powered by Social Snap