Best Love Shayari in Hindi | लव शायरी | Love Status & Quotes in Hindi

लव शायरी हिंदी (Love Shayari in Hindi) :

जैसा की आप सभी जानते है। प्यार अपने आप में ही अधुरा हैं। हम सभीको जिंदगी में कभी ना कभी प्यार हो जाता हैं। अगर प्यार के बारे में हम कुछ कहने जाएंगे तो वो कम ही है।

प्यार एक जो ऐसा सुंदर व सुखद एहसास जिसे हम शब्दों में व्यक्त कर पाना असंभव है। जहाँ दो दिल एक दूसरे के लिए तड़पते हों उसी को प्यार माना जाता है। जहा दो एक दुजे के लिए दिल एक दुसरे के लिए धड़कते है। एक के दुःख में एक दुसरे के लिए तड़पते हो, एक की ख़ुशी में दोनों दिल खुश हो जाते है। जो एक दुसरे के लिए हमेशा खुश रहने और उज्जवल भविष्य की कामना करे, यही सच्चा प्यार है।

इसलिए सामाजिक नेटवर्क पर अपने दिल का राज को व्यक्त करने के लिए लव शायरी हिंदी (Love Shayari in Hindi) से अच्छा कोई विकल्प नहीं है। यहाँ हम इस साईट पर हिंदी में लव शायरी (Love Shayari in Hindi Text, सुपर हिट लव शायरी, Top Love Shayari Hindi for Boyfriend, Love Shayari Photo, Pixiz Love Shayari, Love0 Shayari, शायरी लव रोमांटिक हिंदी फोटो, सुपर हिट लव शायरी 2021, Cute Love Shayari Hindi for Girlfriend, Love Status & Quotes in Hindi, Romantic Shayari in Hindi) का एक बड़ा संग्रह ले आ गए हैं आप अपनी मनोदशा के अनुसार सभी प्रकार की शायरी चुन सकते हैं और जहाँ पर आप आपने परिजनों और दोस्तो चाहें जितना शेयर कर सकते हैं।

 

 

Love Shayari in Hindi | लव शायरी हिंदी :

Best Love Shayari in Hindi | लव शायरी | Love Status & Quotes in Hindi

कोई कहता है प्यार नशा बन जाता है
कोई कहता है प्यार सज़ा बन जाता है
पर प्यार करो अगर सच्चे दिल से,
तो वो प्यार ही जीने की वजह बन जाता है।

वो मौत भी बडी हसीन होगी जो तेरी बाहो मे आनी होगी,
वादा रहा तुझसे, पहले हम मर जायेंगे क्योंकि तेरे लिये जऩ्नत भी सजानी होगी।


किसी ने मुझ से कहा बहुत खुबसूरत लिखते हो यार,
मैंने कहा, खुबसूरत मैं नहीं वो है जिसके लिए हम लिखा करते है।


Read More :

Breakup Shayari in Hindi | ब्रेकअप शायरी हिंदी | Latest Sad Love Shayari


बैठ कर ONLINE मेरे DP का दीदार ना कर,
PAGLI मुझको समझना है तो REPLY कर।


आज फिर उसने मुस्कुराके देखा मेरी तरफ और में फिर से दीवाना हो गया।


ना जाने कैसा रिश्ता है इस दिल का तुझसे..
धड़कना भूल सकता है पर तेरा नाम नही।


Read More :

Best Sad Shayari in Hindi | सैड शायरी हिंदी


किसी ना किसी पर किसी को ऐतबार हो जाता है,
अजनबी कोई सखा यार हो जाता है,
खूबियाँ से नहीं होती मोहब्बत सदा,
कमियों से भी अकसर प्यार हो जाता है।


यूँ पलके बिछा कर तेरा इंतज़ार करते है,
ये वो गुनाह है जो हम बार बार करते हैं,
जलकर हसरत की राह पर चिराग, हम सुबह और शाम
तेरे मिलने का इंतज़ार करते हैं।


एक हथेली तेरी हो, एक हथेली मेरी हो,
दोनों मिलके अपने रब से प्यार की मांगे दुआ,
प्यार के इस खेल में, दो दिलों के मेल में,
जीत हो तो दोनों की हो, हार अकेली मेरी हो।


तेरी मोहब्बत से मुझे इनकार नहीं,
कौन कहता है जान मुझे तुझसे प्यार नहीं,
तुझसे वादा है साथ निभाने का,
पर मुझे अपनी साँसों पर ऐतबार नहीं।


प्यार किया बदनाम हो गए,
चर्चे हमारे सरेआम हो गए,
ज़ालिम ने दिल उस वक़्त तोडा,
जब हम उसके गुलाम हो गए।


तुम्हारे खयालो से फुरसत नहीं मिलती,
एक पल के लिए हमें राहत नहीं मिलती,
यु तो सब कुछ हमारे पास है,
बस देखने के लिए आप की सूरत नहीं मिलती।

जमाने के देखे है रंग हज़ार,
नही कुछ सिवा प्यार के,
आके तू लग जा गले मेरे यार,
नही कुछ सिवा प्यार के।

मेरे सपनो के घर में मेरी सिर्फ तू ही एक दिलरुबा है,
भले ही हजारो Friend Request आ जाए
लेकिन इस दिल को सिर्फ तू ही Accept है।


कुछ ज्यादा नही जानते. मोहब्बत के बारे में,
बस उन्हें सामने देखकर मेरी तलाश खत्म हो जाती है।

मन की ये बेचैनियाँ शब्दों का ये मौन,
तुम बिन मेरे दिल को समझे कौन ?

हिम्मत इतनी तो नहीं मुझमे
कि तुझे दुनियां से छीन लूं,
लेकिन मेरे दिल से कोई  तुझे निकाले,
इतना हक तो मैंने खुद को भी नहीं दिया।

मोहब्बत किससे और कब हो जाये अदांजा नहीं होता,
ये वो घर है जिसका दरवाजा नहीं होता।


तुम ही से तो जुडी हैं अब हर खुशिया मेरी जानेमन
तुम्हारी छुहन से मेरा हर लम्हा अब महकने लगा
पता ना चला कब कौन सी डोर तेरी ओर खिंच लायी
तेरा साथ पाकर मेरा हर लम्हा खूबसूरत बनने लगा।


नींद तो ठीक ठाक आई पर जैसे ही आँख खुली,
फिर वही जिन्दगी और वो पगली याद आई।


तेरी आँखों में इश्क भी है और मौहबब्त भी है,
तभी तो हम कभी महकते भी हैं और कभी बहकते भी है।

कोई मुक़दमा ही कर दो हमारे सनम पर कम से कम हर पेशी पर दीदार तो हो जायेगा।


तेरे सिवा कौन ‎समा सकता है ‎मेरे दिल में रूह भी गिरवी रख दी है
मैंने ‎तेरी चाहत में।


आग दिल में लगी जब वो खफ़ा हुए,
महसूस हुआ तब, जब वो जुदा हुए,
करके वफ़ा कुछ दे ना सके वो,
पर बहुत कुछ दे गए जब वो बेवफ़ा हुए।

मेरी आँखों में झाँकने से पहले
जरा सोच लीजिये ऐ हुजूर,
जो हमने पलके झुकाली तो
कयामत होगी,
और हमने नजरें मिला ली तो
मुहब्बत होगी।

अब समझ में आया लोग चाँद को खूबसूरत क्यों कहते हैं,
शायद मेरी तरह वो भी उसमे तेरी ही झलक को देखते हैं।


दुनिया में रहने की सबसे अच्छी दो जगह,
किसी के दिल में या किसी की दुआओं में।


लगता है तुम्हें नज़र में बसा लूँ ,
औरों की नजरों से तुम्हें बचा लूँ,
कहीं चूरा ना ले तुम्हें मुझसे कोई,
आ तुझे मैं अपनी धड़कन में छुपा लूँ।

सुन पगली तेरा दिल भी धड़केगा तेरी आँख भी फड़केगी..
अपनी ऐसी आदत डालूँगा के हर पल मुझसे मिलने के लिये तड़पेगी।

सकून मिलता है जब उनसे बात होती है ,
हज़ार रातों में वो एक रात होती है,
निगाह उठाकर जब देखते हैं वो मेरी तरफ ,
मेरे लिए वो ही पल पूरी कायनात होती है।

निगाह उठे तो सुबह हो झुके तो शाम हो जाये,
वो एक बार मुस्कुरा भी दे तो कत्ले आम हो जाये।

इश्क़ ने हमें बेनाम कर दिया ,
हर ख़ुशी से हमे अंजान कर दिया,
हमने तो कभी नहीं चाहा कि हमें भी मोहब्बत हो,
लेकिन आपकी एक नज़र ने हमें नीलाम कर दिया।

अलफ़ाज़ की शक्ल में एहसास लिखा जाता हैं,
यहाँ पानी को भी प्यास लिखा जाता हैं,
मेरे ज़ज़्बात से वाकिफ हैं मेरी कलम,
मैं प्यार लिखू तो तेरा नाम लिखा जाता हैं।


दर्द का एहसास जानना है तो प्यार करके देखो,
अपनी आँखों में किसी को उतार कर देखो,
चोट उनको लगेगी आँसू तुम्हें आ जायेंगे,
ये एहसास जानना हो तो दिल हार कर देखो।

क्या हुनर हे तेरा Pagle हमारे बेग से कोई पेंसिल नहीं चुरा पाया और तूने सीने से दिलचुरा लिया।


माना आज उन्हें हमारा कोई ख़याल नहीं,
जवाब देने को हम राज़ी है, पर कोई सवाल नहीं!
पूछो उनके दिल से क्या हम उनके यार नहीं,
क्या हमसे मिलने को वो बेकरार नहीं।


दिल जिगर लिवर मैं हो तुम।
वक़्तभी वक़्त जो आए वो फीवर हो तुम,
लाइफ में ना सही यादोंमें forever हो तुम।

बहुत ही खूबसूरत लम्हा था वो जब उसने कहा था
मुझे तुमसे मोहब्बत है और तुमसे ही रहेगी।


क्या विश्वास नही तुम्हे हमारे विश्वास पे आज
तुम फिर से ज़रा मेरी बातों पे एतबार तो करो
यूँ ना कहो मुझे बेवफा, मैं बेवफा नही हूँ
तुम मेरी वफ़ा को ज़रा समझने की कोशिश तो करो।

तू मुझमें पहले भी था,
तू मुझमें अब भी है,
पहले मेरे लफ्जों में था,
अब मेरी खामोशियों में है।

सुनो जान,
हमें ये दिल हारने की बीमारी ना होती
अगर आपकी दिल जीतने की,
अदा इतनी प्यारी ना होती।

Time लगेगा तो भी चलेगा लेकिन Wait तो में सिर्फ तेरा ही करूँगा,
भूल भी गयी अगर तू मुझे, फिर भी में तेरा ही बनके रहूँगा।

सिर्फ इशारों में होती मोहब्बत अगर,
इन अलफाजों को खुबसूरती कौन देता?
बस पत्थर बन के रह जाता ‘ताज महल’
अगर इश्क इसे अपनी पहचान ना देता।

आँखों मे आ जाते है आँसू,
फिर भी लबो पे हसी रखनी पड़ती है,
ये मोहब्बत भी क्या चीज़ है यारो,
जिस से करते है उसीसे छुपानी पड़ती है।

चलो आज खामोश प्यार को इक नाम दे दें,
अपनी मुहब्बत को इक प्यारा अंज़ाम दे दें
इससे पहले कहीं रूठ न जाएँ मौसम अपने
धड़कते हुए अरमानों एक सुरमई शाम दे दें।

अभी सूरज नहीं डूबा जरा सी शाम होने दो,
मैं खुद लौट जाऊंगा मुझे नाकाम तो होने दो,
मुझे बदनाम करने का बहाना ढूंढ़ता है जमाना,
मैं खुद हो जाऊंगा बदनाम पहले मेरा नाम तो होने दो।

जब तू दाँतो मे क्लिप दबा कर, खुले बाल बांधती है,
कसम से एक बार तो जिंदगी, वही रुक जाती हैं।


हाल अपने दिल का,
मैं तुम्हें सुना नहीं पाती हूँ,
जो सोचती रहती हूँ हरपल,
होंठो तक ला नहीं पाती हूँ.,
बेशक बहुत मोहब्बत है,
तुम्हारे लिए मेरे इस दिल में,
पर पता नहीं क्यों तुमको,
फिर भी मैं बता नहीं पाती हूँ।

किसी उदास मौसम में,
मेरी आँखों पे वो हाथ रख दे अपना,
और हस्ती हुई कह दे,
पहचान लो तो हम तुम्हारे
ना पहचानो तो तुम हुमारे।

फूल जब कभी उसने छू लिया होगा,
होश तो ख़ुशबू के भी उड़ गए होंगे।

रूठने मे मजा तब आता है
जब कोई प्यार से मनाने वाला हो।

इश्क की बेकरारी इस कदर बढी है,
सांसो से ज्यादा अब तू ज़रूरी है।

इश्क का जिसको ख्वाब आ जाता है,
समझो उसका वक़्त खराब आ जाता है,
महबूब आये या न आये,
पर तारे गिनने का तो हिसाब आ ही जाता है।

माना की तुम जीते हो ज़माने के लिये,
एक बार जी के तो देखो हमारे लिये,
दिल की क्या औकात आपके सामने,
हम तो जान भी दे देंगे आपको पाने के लिये।

जो बदनाम थे कल तक, आज वो सुखनवर हो गए
जो थे कल तक बाहर, आज दिलों के अंदर हो गए
हम तो आज भी एक कतरा हैं रुके हुए पानी का,
पर लोग देखते ही देखते, कतरे से समंदर हो गए।

तेरी धड़कन ही ‪ज़िंदगी‬ का किस्सा है मेरा,
तू ज़िंदगी का एक अहम् हिस्सा है मेरा,
मेरी ‪‎मोहब्बत‬ तुझसे, सिर्फ़ लफ्जों की नहीं है,

तेरी रूह से रूह तक का रिश्ता है मेरा।


उस पगली की मौहब्बत का अंदाज भी बड़ा नटखट है,
बाहों में भर कर कहती है की संभालो अब मुझको।


अक़्ल को तन्क़ीद से फ़ुर्सत नहीं,
इश्क़ पर आमाल की बुनियाद रख।


बात दिल की थी इसलिए. मैंने तुमसे दिल खोल कर मोहब्बत की।


छू लूँ तुझे या तुझमें ही बस जाऊँ,
लब्ज लिखूँ या खामोश हो जाऊँ,
करूँ- इश्क या करूँ- मोहब्बत,
थोड़ा सा तो दिखा प्यार
जिससे मैं तुझ में ही बस जाऊ।

वफ़ा का दरिया कभी रुकता नही,
इश्क़ में प्रेमी कभी झुकता नही,
खामोश हैं हम किसी के खुशी के लिए,
ना सोचो के हमारा दिल दुःखता नहीं।

मेरे वजूद मे काश तू उतार जाए
मे देखु आईना ओर तू नज़र आए,
तू हो सामने और वक़्त ठहर जाए,
ये ज़िंदगी तुझे यू ही देखते हुए गुज़र जाए।

सबको प्यार करने के लिए हम इस दुनिया में आए थे,
पर बीच में आप जरा ज्यादा पसंद आ गए हो।

प्यार करने वाले कहते हैं पहला प्यार
कभी भुलाया नही जा सकता है तो
माँ बाप का प्यार कैसे भूल जाते है।

कितना प्यार है इस दिल में तेरे लिए, अगर बयां कर दिया
तो तू नहीं ये दुनिया मेरी दिवानी हो जायेगी।


अगर महोब्बत साथ दे दे अपना,
तो इस दुनिया में कयामत आने से
कोई नहीं रोक सकता।


हसीनो ने हसीन बनकर गुनाह किया,
औरों को तो क्या हमको भी तबाह किया,
पेश किया जब ग़ज़लों में हमने उनकी बेवफ़ाई को,
औरों ने तो क्या उन्होने भी वाह-वाह किया।

उन्होंने कहा बहुत बोलते हो
अब क्या बरस जाओगे,
हमने कहा जिस दिन चुप हो
गये तुम‌ तरस जाओगे।

मत पूछ लेना सुबह से,
ना यकीन हो तो शाम से,
ये दिल धड़कता है,
सिर्फ तेरे ही नाम से।

प्यार मे हम तेरे इस कदर खो गये है,
जमाने से बेखबर हम तेरे दिल मे सो गये.
मत उठना हमें अपनी दिल की गोद से
हम सदा के लिए अब तुम्हारे हो गये।

तुझे इनकार है मुझसे, मुझे इकरार है तुझसे,
तू खफा है मुझसे, मुझे चाहत है तुझसे,
तू मायूस है मुझसे, मुझे खुशी है तुझसे,
तुझे नफ़रत है मुझसे और मुझे प्यार है तुझसे।

अगर हम सुधर गए तो उनका क्या होगा जिनको हमारे पागलपन से प्यार है।


अगर एहसास है तो, कर लो मोहब्बत को महसूस,
ये वो जज़्बा है जो लफ्ज़ो में, समझाया नही जाता।


मोहब्बत हो कर भी हम तुमसे छुपाते फिरते है,
तुम्हे अनदेखा कर फिर छुप छुप कर देखा करते है।


अगर महोब्बत साथ दे दे अपना,
तो इस दुनिया में कयामत आने से
कोई नहीं रोक सकता।


कोई वादा ना कर, कोई ईरादा ना कर,
ख्वाइशों मे खुद को आधा ना कर,
ये देगी उतना ही जितना लिख दिया खुदा ने,
इस तकदीर से उम्मीद ज़्यादा ना कर।

मुझे किसी कि ज़रूरत नहीं सिवाए तेरे,
मेरी नज़र को तलाश जिसकी बरसों से किसी के पास वो सूरत नहीं सिवाए तेरे,
जो मेरे दिल और ज़िन्दगी से खेल सके, किसी को इतनी इजाजत नहीं सिवाए तेरे।

जो मैं रूठ जाऊँ तो तुम मना लेना कुछ न कहना बस सीने से लगा लेना।


प्यार करना सीखा है,
नफरतों का कोई ठौर नहीं,
तू ही तू है इस दिल में दूसरा कोई और नहीं।


चल हो गया फ़ैसला कुछ कहना ही नहीं,
तू जी ले मेरे बग़ैर मुझे जीना ही नहीं।

मुस्कान का कोई मोल नहीं होता ,
रिश्तों का कोई तोल नहीं होता,
लोग तो मिल जाते है हर रस्ते पर ,
लेकिन हर कोई आपकी तरह अनमोल नहीं होता।

जितना प्यार है‌ आपसे उस से और ज्यादा‌ पाने को जी चाहता है,
जाने वो कौन सी खूबी है आप में की,
हर रिश्ता आप से बनाने को जी चाहता है।

इक लफ़्ज़-ए-मोहब्बत का अदना ये फ़साना है,
सिमटे तो दिल-ए-आशिक़ फैले तो ज़माना है।

मुश्किल भी तुम हो, हल भी तुम हो,
होती है जो सीने में वो हलचल भी तुम हो।

आंसूओ तले मेरे सारे अरमान बह गये
जिनसे उमीद लगाए थे वही बेवफा हो गये,
थी हमे जिन चिरागो से उजाले की चाह
वो चिराग ना जाने किन अंधेरो में खो गये।

मुश्किल भी तुम हो, हल भी तुम हो, होती है जो सीने में, वो हलचल भी तुम हो।


इश्क ऐसे करो के‪ ‎वो‬ आपको छोड़ने के बाद ज़िन्दगी भर कहे,
प्यार तो बस वही करता था।


कभी कभी, ऐसा होता है,
प्यार का असर देर से होता है,
आपको क्या लगता हम आपके बारे कुछ नही सोचते
पर हमारी हर बात में आपका जिक्र होता है।


सीख लो यह इश्क का पहला सबक होता है,
इश्क में हुक्म नहीं बस हक़ होता है।

फूल जब कभी उसने छू लिया होगा,
होश तो ख़ुशबू के भी उड़ गए होंगे।

जिस जिस ने मुहब्बत में,
अपने महबूब को खुदा कर दिया,
खुदा ने अपने वजूद को बचाने के लिए,
उनको जुदा कर दिया।

क़यामत टूट पड़ती है,
ज़रा से होंठ हिलने पर
जाने क्या हस्र होगा,
जब वो खुलकर मुस्कुरायेंगे।

पहला प्यार बहुत ख़ास होता है,
पर बहुत कम लोगों के पास होता है।


तेरे‬ सिवा कौन ‎समा‬ सकता है ‎मेरे‬ दिल में,
‪रूह‬ भी गिरवी रख दी है मैंने ‎तेरी‬ चाहत में।


मेरे वजूद मे काश तू उतार जाए
मे देखु आईना ओर तू नज़र आए,
तू हो सामने और वक़्त ठहर जाए,
ये ज़िंदगी तुझे यू ही देखते हुए गुज़र जाए।


तुम भी मोहब्बत का सौदा बडी अजीब करते हो,
थोडा सा मुस्कुरा देते हो और दिल खरीद लेते हो।

जाने कभी गुलाब लगती है,
जाने कभी शबाब लगती है,
तेरी आखें ही हमें बहारों का ख्बाब लगती है,
में पिए रहु या न पिए रहु,
लड़खड़ाकर ही चलता हूं,
क्योकि तेरी गली कि हवा ही मुझे शराब लगती है।

छू जाते हो तुम मुझे हर रोज एक नया ख्वाब बनकर
ये दुनिया तो खामखां कहती है कि तुम मेरे करीब नही।

तुम्हे देखा तुम्हे चाहा तुम्ही को दिल भी दे डाला
अब अरमान है इतना कि तुम मेरे सामने आओ
कुछ तुम कहो कुछ हम कहे इकरार हो जाए
मिट जाए सारी दूरियां और प्यार हो जाए।

हाल अपने दिल का,
मैं तुम्हें सुना नहीं पाती हूँ,
जो सोचती रहती हूँ हरपल,
होंठो तक ला नहीं पाती हूँ,
बेशक बहुत मोहब्बत है,
तुम्हारे लिए मेरे इस दिल में,
पर पता नहीं क्यों तुमको,
फिर भी मैं बता नहीं पाती हूँ।

Follow us On : Facebook | Instagram | Twitter | Telegram

x
Share via
Copy link
Powered by Social Snap