Romantic Shayari in Hindi | रोमांटिक शायरी

रोमांटिक शायरी हिंदी (Romantic Shayari in Hindi) :

रोमांस एक जो ऐसा अहसास है जिसकी गहराई को सिर्फ महसूस किया जा सकता है। यह आपके साथी, जीवन और यहां तक कि दुनिया को इस तरह से देखने का एक तरीका है, जो आपको अपने जीवन में जो कुछ भी अच्छा है, उसे नजदीक लाने की अनुमति देता है।

रोमांस किसी शब्दों का मोहताज नहीं है, यह आंखों और इशारों की भाषा खूब अच्छी तरह समझता है। रोमांस के बिना प्रेम अधुरा है।

चलो तो फिर इसीलिए आज हम आपके लिए चुनीदा रोमांटिक शायरी हिंदी (Romantic Shayari in Hindi) का लव शायरी संग्रह लाये है। हम आशा करते है कि ये आप सभी को पसंद आयेगी और आप आपने परिजनों और दोस्तो चाहें जितना शेयर कर सकते है।

Romantic Shayari in Hindi | रोमांटिक शायरी

 

Romantic Shayari in Hindi | रोमांटिक शायरी हिंदी :

दिल की धड़कन और मेरी सदा है तू,
मेरी पहली और आखिरी वफ़ा है तू,
चाहा है तुझे चाहत से भी बढ़ कर,
मेरी चाहत और चाहत की इंतिहा है तू।


ऐ शख्स तेरा साथ मुझे हर शक्ल में मंज़ूर है,
यादें हों कि खुशबू हो, यक़ीं हो कि ग़ुमान हो।


तुम मिल गए तो मुझ से नाराज है खुदा,
कहता है कि तू अब कुछ माँगता नहीं है।


बदल जाओ वक्त के साथ
या फिर वक्त बदलना सीखो
मजबूरियों को मत कोसो
हर हाल में चलना सीखो


सुना है आज समंदर को बड़ा गुमान आया है,
उधर ही ले चलो कश्ती जहां तूफान आया है।


लिखना था कि
खुश हैं तेरे बगैर भी यहां हम,
मगर कमबख्त..
आंसू हैं कि कलम से
पहले ही चल दिए।


तलाश मेरी थी और भटक रहा था वो,
दिल मेरा था और धड़क रहा था वो।
प्यार का ताल्लुक भी अजीब होता है,
आंसू मेरे थे और सिसक रहा था वो।


अब जानेमन तू तो नहीं,
शिकवा -ए-गम किससे कहें
या चुप हें या रो पड़ें,
किस्सा-ए-गम किससे कहें।


अब काश मेरे दर्द की कोई दवा न हो
बढ़ता ही जाये ये तो मुसल्सल शिफ़ा न हो
बाग़ों में देखूं टूटे हुए बर्ग ओ बार ही
मेरी नजर बहार की फिर आशना न हो।


सिर्फ एक सफ़ाह पलटकर उसने,
बीती बातों की दुहाई दी है।
फिर वहीं लौट के जाना होगा,
यार ने कैसी रिहाई दी है।


बैठे-बिठाए हाल-ए-दिल-ज़ार खुल गया
मैं आज उसके सामने बैठकर बेकार खुल गया।


आप दूर हो लेकिन दिल में यह एहसास होता है,
कोई ख़ास है जो हर वक़्त हमारे दिल के पास रहता है,
वैसे तो करते हैं याद हम सबको,
लेकिन आपकी याद का एहसास हमेशा ख़ास होता है|


तुम्हारे इश्क़ के रंग ओढ़कर ही मैं ख़ुशनुमा हूँ,
तुम ही तो हो मुझमे मैं खुद में कहाँ हूँ।


बक्शा है मुझे हुस्न आपकी आँखों ने,
आप ही तो लेकर आये हो मुझे इस गुरूर-ए हद तक


ना पूछ कितनी मोहब्बत मैं ज़ख़्म खाए है
अगर इनके बारे में सोच लो तो दिल भर जाता है


जख्म ही देना तो पूरा जिस्म तेरे हवाले था
बे रहम तूने वार क्या वो भी दिल ही वार क्या


आज फिर दिन भर कुछ करते पल्खों पर रहेंगे
राज भर उसे खुवाब मैं बिछड़ता देख हूँ


मैं चाहा था की जखम भर जाये
ज़ख्म ही ज़ख्म भर गए मुझ मैं।


कहने में तो मेरा दिल एक है लेकिन
जिसको दिल दिया वो हजारी में एक है।


वक़्त फिर वही खानी दुहरा रहा है
मै तेरी आगोश में स्म रहा हूँ तू मेरी आगोश में समा रहा है।


मुझे उस जगह से भी मोहब्बत हो जाती है,
जहाँ बैठ कर एक बार तुम्हें सोच लेता हूँ।


कुछ दूर साथ चलो हम दिल की कहानी कह देंगे,
समझे न जिसे तुम आँखों से वो बात जुवानी कह देंगे।


मैं दीवाना हूँ तेरा मुझे इनकार नहीं,
कैसे कह दूँ कि मुझे तुमसे प्यार नहीं,
कुछ शरारत तो तेरी नजरों में भी थी,
मैं अकेला ही तो इसका गुनहागार नहीं।


दिल की आवाज़ को इज़हार कहते हैं,
झुकी निगाहों को इक़रार कहते हैं,
सिर्फ पाने का नाम मोहब्बत नहीं,
कुछ खोने को भी प्यार कहते हैं।


तुझे दिल से जुदा कभी होने नहीं देंगे,
हाथ हमारा कभी छोड़ने नहीं देंगे,
तेरी मुस्कान ही इतनी प्यारी है कि,
हम मर भी जायें पर तुझे रोने नहीं देंगे।


होती नहीं है मोहब्बत सूरत से, मोहब्बत तो दिल से होती है,
सूरत उनकी खुद-ब-खुद लगती है प्यारी, कदर जिनकी।


कितना खूबसूरत चेहरा है तुम्हारा, ये दिल तो बस दीवाना है
तुम्हारा, लोग कहते है चाँद का टुकड़ा तुम्हें, पर।


रिश्ते किसी से कुछ यूँ निभा लो
की उसके दिल के सारे गम चुरा लो
इतना असर छोड़ दो किसी पर अपना
के हर कोई कहे हमें भी अपना बना लो।


तुम दूर हो मगर दिल में ये एहसास होता है
कोई है जो हर पल दिल के पास होता है
याद तो सब की आती है मगर
तुम्हारी याद का एहसास ही कुछ ख़ास होता है।


आजाओ के हुम्हे अब भी याद करते है
ज़िंदगी से जयादा हुम्हे प्यार करते है
आप जिस रास्ते से गुज़रते भी नहीं
हम उन रास्तो में भी आपका इंतज़ार करते है।


ऐ दिल तू धड़कना बंद कर
जब जब तू धड़कता है तब तब उनकी याद आती है
वो तू खुश है अपनी दुनिआ में
जान तो पल पल हमारी जाती है।


कोई है जो दुआ करता है
अपनों मे मुझे भी गिना करता है
बोहत खुशनसीब समझते है खुद को हम
दूर रह कर भी जब कोई प्यार किया करता है।


ख़ामोश रात में सितारे नई होते
उदास आँखों में रंगीन नज़ारे नई होते
हम कभी ना करते याद आपको
अगर आप इतने प्यारे ना होते।


ऐ बारिश जरा थम के बरस
जब मेरा दोस्त आ जाये तो जम के बरस
पहले ना बरस के वो आ ना सके
फिर इतना बरस के वो जा ना सके।


प्यार आ जाता है आँखें रोने से पहले
हर खवाब टूट जाता है सोने से पहले
इश्क़ है गुनाह ये समझ गये हम
काश कोई रोक लेता ये गुनाह होने से पहले।


जान है मुझे ज़िंदगीं से प्यारी .
जान के लिए कर दू कुर्बान यारी
जान के लिए छोड़ दू यारी तुम्हारी .
पर तुमसे क्या छुपाना तुम ही तो हो जान हमारी।


जो पल पल जले वो रौशनी
जो पल पल महके वो खुशबू
जो पल पल धड़के वो दिल
जो पल पल याद आये वो आप


पाने से खोने का मज़ा कुछ और है
बंद आँखों से सोने का मज़ा कुछ और है
आँसू बने लफ़ज़ और लफ़ज़ बनी जुबा
इस ग़ज़ल में किसी के होने का मज़ा कुछ और है।


प्यार के रास्ते बेवफा हो नहीं सकते
हम आपसे खफा हो नहीं सकते
आप बेशक हमें भूल कर सो जाओ
मगर हम आपको याद किये बिना सो नहीं सकते।


दिल का तमाशा देखा नहीं जाता
टुटा हुआ सितारा देखा नहीं जाता
अपनी हीसे की सारी ख़ुशी आपको दे दूँ
मुझसे आपका ये उदास चेहरा देखा नहीं जाता।


किसी को फूलों में ना बसाओ
फूलों में सिर्फ सपने बस्ते है
अगर बसाना है तो दिल में बसाओ
क्युकी दिल में सिर्फ अपने बस्ते है।


उस नज़र की तरफ मत देखो
जो तुम्हे देखना से इनकार करती है
दुनिया की इस महफ़िल में उस नज़र को देखो
जो आपका इंतज़ार करती है।


उनकी यादो को प्यार करते है
लाखो जनम उन पर निसार करते है
अगर राह में मिले वो आपसे
तो कहना उनसे हम आज भी उनका इंतज़ार करते है।


‎तुम्हारा‬ तो ‪गुस्सा‬ भी ‪‎इतना प्यारा‬ हे के,
दिलकरता‬ हे ‪‎दिनभर‬ तुम्हे ‪‎तंग करते‬ रहैं।


क्या भूल जाती हो समझकर सपना रात का,
कभी तो पूरा कर दो ख्वाब मेरे प्यार का।


जो लफ्जों से ज़ाहिर ना हो सके,
कुछ ऐसी मोहब्बत है तुमसे।


तुम हमेशा साथ देना,
तुम मेरे हो मेरे ही रहना।


सूखे गुलाब की पत्तियों की तरह
हम शायद आहीस्ता आहीस्ता गिर रहे है,
आप की किताबों से।


Follow us On : Facebook | Instagram | Twitter | Telegram

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap