Best Bhojpuri Shayari in Hindi | भोजपुरी शायरी हिंदी में

Bhojpuri Shayari in Hindi | भोजपुरी शायरी हिंदी में :

नमस्कार दोस्तों, यहां हम आपके लिऐ Hindi Web Quotes वेबसाईट पर हिंदी में भोजपुरी शायरी, Bhojpuri Shayari in Hindi, Bhojpuri Shayari Status का बड़ा संग्रह लेकर आए हैं। आप अपनी पसंद के अनुसार सभी प्रकार की शायरी चुन सकते है और जहां पर आप अपने दोस्तों को चांहे जितना शेयर कर सकते है।

 

Bhojpuri Shayari in Hindi | भोजपुरी शायरी हिंदी में

खालीयो शिशा मे निशान रह जाला
टूटल दिल मे भी अरमान रह जाला
जवन खामोशी से गुजर जाला
उ दरिय़ा भी आपन दिल मे तूफान राखेला।


ऐसे न चाल चल पवन हरजाई
लागल झुलानिया कय तार टूट जायी,
हंस हंस के न बात कर होय जग हसाई
लागल उमारिया कय ले छूट जायी।


ई फूलन मे अब उ महक कहॉ
इ राह क अब कवनो मंजिल कहॉ
क लेती हम मोम अगर केहू पत्थर दिल होत त
पर इहां त केहू में इंसानी दिल बा कहॉ।


आज सोचनी की तोहरा के सपना कही
पर सपना त सच होखेला ना
तू ख्याले में रोज आईल कर
लोग कहेला की ख्याल कबो बदलेला ना।


उल्फत में अक्सर ऐसा होला,
आँखे हँसेला और दिल रोवेला,
माने$ल जेकरा के तु मंजिल अपना,
हमसफर वोकर कोई और होला।


का खूब कहले बा..
हम त गुज़रनी इश्क के गलियों से
और समझदार हो गयनी
कुछ इअह्वा गालिब हो गईले
त कुछ गुलजार हो गईले।


दर्द के न देखह दर्द के नज़र से
दर्द के भी दर्द होला
दर्द के भी जरुरत बा प्यार के
बहुत प्यार में दर्द त हमदर्द होला।


दर्द होखेला मगर शिकवा न करीला
कौन कहता की हम वफ़ा न करीला
आखिर कहे न बदले तक़दीर
आशिक की,का हमरा के चाहे वाला हमरा ला दुआ न करीला।


जवन पल बीत गईल ऊ वापस न आई
सुखल फूल वापस ना खिल पाई
कभी ऐसा लागेला की ऊ हमरा के भूल गईल होइये,
पर ये दिल कहेला की ऊ हमरा के भुला न पाई।


ई दिल में आग जैसन लग गईल जहिया ऊ खफा भईल
फर्क त तब परल जब ऊ जुदा भईल
हमे त ऊ खफा करके त कुछ दे न पयिले
लेकिन दे गईल ऊ बहुत कुछ जब ऊ वेबफा भईल।


कौन कहेला कि हम उनका बिना मर जाईब
हम ता दरिया बानी समुंदर में उतर जाईब
उ त तरस जाई प्यार के एक बूंद के खातिर
हम त बादल बनी प्यार के, फिरहु केहू पर बरस जाईब।


कभी कवनो से प्यार मत करियह
हो जाई त इनकार मत करियह
निभा सकियाह ता चलियह ओकरा रह पर
वरना कवनो के जिन्दगी बर्बाद मत करियह।


बिछड़ के तोहरा से हमके ख़ुशी अच्छा न लागेला
होठो पर इ बनावटी हंशी अच्छा न लागेला
कहियो त खूब अच्छा लागत हम
अब हमरा के अपन जिन्दगी अच्छा कहे न लागेला।


बहुत खूबसूरत ऊ रात होला
जवना दिन तोहरा से बात होला
वैसे कुछ खास लफ्ज़ होला हमरा पास
लेकिन जब उनकर याद आवे ला त
हमरा लिखल लफ्ज़ में भी मिठास आ जाला।


कोहरा से एक अच्छ बात सीखे के मिलल
कि जब जीवन में कोई रास्ता न दिखाई दे
तो बहुत दूर तक देखने की
कोशिश व्यर्थ बा धीरे धीरे एक एक कदम
चली रास्ता खुलत जाई।


जवन नजाए से गुज़र जाला
ऊ सितारा अक्सर टूट जला
कुछ लोग दर्द के बयां न होने देवेला
बस चुपचाप बिखर जाला।


टूटल प्याला में जाम न आवेला
इश्‍क में मरीज को आराम ना आवेला
दिल तोड़े से पहले अरे बेवफा ई सोच लेले रहतु
कि टूटल दिल कभी कवनो के काम न आवेला।


न वो सपना देखो जो टूट जाये,
न वो हाथ थामो जो छूट जाये,
मत आने दो किसी को करीब इतना,
कि उसके दूर जाने से इंसान खुद से रूठ जाये।


याद करीला तोहरा के तन्हाई में
दिल डूबल बा गम के गहराई में
हमरा के मत ढूंडीह दुनिया के भीड़ में
हम मिलब तोहके तोहरा परछाई में।


घुट घुट के भितरे भितरे दर्द के लोर पी रहल बानी
कागज कलम के सँघतिया बना के होठवा के सी रहल बानी
मन होला मर जइतीं उनके चौकठ पर जा के
उनकर बदनामी के डर से आज ले जी रहल बानी।


दिल से निकलल हर बात एगो जज्बात होला
प्यार से बोली वोह बोली के एगो अजबे सौगात होला
कबो आजु ले अघाईल नईखे एह नेह छोह के बोली पे
जब दिल टुटेला त आंखि से भादो असि बरसात होला।


तोहार जिंनगी में हमार नाही रहले क कमी तहके हर रोज खली
रोशनी लाख करब तु अपन जिनगी में पर रौनक नाहीं होई।


प्यार कईले हमारा से
अब ते दूसरा से ब्याह करबे,
अरे हमार त कईदहले
अब केकर जिनगी तबाह करबे।


कुछ फासला खाली आंख से होला,
बाकी दिल क फासला खाली बात से होला,
केहू लाख भूले के कोशिश करे,
बाकी कुछ रिश्ता खतम खाली साँस से होला।


तोहरा से लगन लगा लेहली
बोला का अब तू सिला देबू
दिल तोड़ि के जइबू तुहू या
अँखियाँ से जाम पिला देबू।


दरद दे के दरद बढावल ना जाला,
दीप जलाके दीप बुझावल ना जाला,
प्रेम केतनो बढ़ी पर बेगाना ना होई,
दिल लगाके दिल हटावल ना जाला।


बेरोजगार लईका के सर पे
लउकेला सीमेंट बालू के टोकरी,
उहे लईका के भाव बढ़ेला बाजार में
जेकरा लगे हो सरकारी नौकरी।


खालीयो शिशा मे निशान रह जाला,
टूटल दिल मे भी अरमान रह जाला,
जवन खामोशी से गुजर जाला,
उ दरिय़ा भी आपन दिल मे तूफान राखेला।


प्यार ग़र कइला ता निभावेके पड़ी
इक दूजे के दिल में बसावेके पड़ी
मुश्किल से केहू निभा पावेला ई रिश्ता
पावन प्रेम हर घड़ी तुहें दिखावेके पड़ी।


जिनिगी अब पहाड़ जइसन लागे लगल बा
सुखला में बाढ़ जइसे लागे लगल बा
कुछुओ कहाँ बा आपन अब, सब झूठीये के भरम बा
साँसो अब उधार जइसन लागे लगल बा।


कौन कहेला कि हम उनका बिना मर जाईब
हम ता दरिया बानी समुंदर में उतर जाईब
उत तरस जाई प्यार के एक बूंद के खातिर
हम त बादल बनी प्यार के, फिरहु केहू पर बरस जाईब।


बीना बतवले उ ना जाने काहे हमसे दूरी क लिहलन
बिछड. के ऊ हमार मुहबबत अधूरे छोर दिहलन
हमरे मुककदर में खाली गम बा त का भइल
खुदा उनकर खवाइस त पुरा कर दिहलन।


दरद दे के दरद बढावल ना जाला
दीप जलाके दीप बुझावल ना जाला
प्रेम केतनो बढ़ी पर बेगाना ना होई
दिल लगाके दिल हटावल ना जाला।


तू का बुझअ का होला तनहाई,
तू का जनबअ का होला बेवफाई
हई टूटल पाटीये से पुछअ का होला जुदाई,
अरे अब केतना जुलम सहीं जालीम
ई रतीये से पुछअ कब तहार याद ना आईल।


तनहा रहल त मोहबबत करे वाला क रशम-वफा हवे
अगर फूल खुशी खातिर होत त केहू जनाजा पर नाही डालत।


काहो नींद अब त आवल करअ, केहू नईखे अब हमरा पास
जेकरा खातीर तहरा के छोड़ले रहीं
ऊ त अब छोड़ के चल गईनी।


हमरे मन क कमरा जवन कहिये से खाली पड़ल बा
ओके तहार क़दम क आहट भी, शोर जइनस लागेला।


आजु हम अपने आप से कुछ कहल चाहत तानी
बाहर त बहुत छलकनी अब अंदर ही बहल चाहत तानी।


उजाला आपन याद क हमरे साथ रहे द
न जाने कवने गली में जिनगी क शाम हो जाइ।


तू बेवफा होख बु कबो सोचले ना रहनी
तू खफा होख बु कबो सोचले ना रहनी
जवन गीत लिख ले रानी कबो तोहरा प्यार में
तोहार उहे गीत रुस्वा हाई कबो सोचले ना रहनी।


दिलासा देके अब आउर ना सम्हाल हमके
अईसन मखमली तूफान में न पाल हमके
कब ले कौनो अनहोनी क डर रहे
ईहवें रहे द ना निकाल हमके।


हम हु केकरो से प्यार कइले रहनी
उनकर रहिया में इंतिजार कइले रहनी
हमके का पता रहे कि ऊ भुला जईहे हमरा के
कसूर उनकर ना हमार रहे
जे एगो बेवफा से प्यार कइले रहनी।


तू रूठ जइबू त हम जीयब कईसे
फाटल करेजवा के सीयब कईसे
तूही त हउ हमार सोना के सुराही
तुही फूट जइबू त पनिया पियब कईसे।


हमरे मन क कमरा जवन कहिये से खाली पड़ल बा
ओके तहार क़दम क आहट भी, शोर जइनस लागेला
आजु हम अपने आप से कुछ कहल चाहत तानी
बाहर त बहुत छलकनी अब अंदर ही बहल चाहत तानी
उजाला आपन याद क हमरे साथ रहे द
न जाने कवने गली में जिनगी क शाम हो जाइ।


Follow us On : Facebook | Instagram | Twitter | Telegram

Share via
Copy link
Powered by Social Snap